Bummer Success Story – शार्क टैंक से बदली क़िस्मत, बनाई 11 करोड़ की कम्पनी

Bummer Success Story – दोस्तों आजकल सभी सरकारी नौकरी के पीछे हाथ धोकर पड़े हैं लेकिन सरकारी नौकरी लगने के चांसेस हर एक भर्ती में सिर्फ एक से डेढ़ परसेंट ही होता है या शायद उससे भी काम होता है इसलिए आजकल हर एक इंसान यह सोच रहा है कि वह भी अपना एक स्टार्टअप शुरू करें और यह सोचकर व्यक्ति अपना स्टार्टअप शुरू कर देता है।

आज हम ऐसे ही एक स्टार्टअप की बात करने वाले हैं जो शुरू तो बहुत कम पैसे से किया गया था लेकिन आज वह महीने का 2 करोड रुपए टर्नओवर कर रहा है, और उसकी वैल्यूएशन 20 करोड़ से ज्यादा है। तो चलिए दोस्तों आगे बढ़ते हैं और बात करते हैं Bummer Success Story के बारे में।

Bummer Success Story 

वर्तमान में हमारे देश में स्टार्टअप्स भी बहुत तेज से बढ़ रहे हैं क्योंकि सरकार से स्टार्टअप्स को बेहद सपोर्ट मिल रहा है क्योंकि यदि यह स्टार्टअप से सफल होंगे तो भारत के लोगों को रोजगार मिलेगा और भारत देश की आर्थिक स्थिति सुधरेगी। जिससे कि हमारा भारत देश दुनिया के विकसित देशों की गिनती में खड़ा हो पाएगा।

साथ ही साथ टेलीविजन पर चल रहे आजकल शर्क टैंक इंडिया शो के कारण भी लोगों में स्टार्टअप शुरू करने का चलन बढ़ा है और लोगो के दिमाग खुलने लगे है। और आज हम जिस Bummer Success Story के बारे में बात करने वाले हैं उनके फाउंडर ने भी शर्क टैंक इंडिया की नमिता थापर से फंडिंग मिली है।

Bummer Fancy Underwear (फैन्सी अंडरवियर)

Bummer स्टार्टअप के फाउंडर सुले लावसी है जिन्होंने साल 2020 में स्टार्टअप की शुरुआत की थी और यह स्टार्टअप उन्होंने अपने राज्य गुजरात से ही शुरू किया था बमर के फाउंडर सुले लावसी का मकसद सिर्फ इतना था कि वह अपने ब्रैंड को एक कम्फी अंडरवियर ब्रांड बनाएं, लावसी ने कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी से कपड़ों और फैशन के बारे में स्टडी की थी इसलिए उन्हें फैशन के फील्ड में इंटरेस्ट हुआ और उसके बाद उन्होंने बहुत सारी फैशन कंपनियों के साथ काम भी किया लेकिन कुछ समय बाद उन्होंने अपना ब्रांड शुरू करने की सोची।

Bummer Success Story

आज के जनरेशन में यंग जेनरेशन कुछ हटके और फैंसी पहनना चाहती है इसलिए सुले लावसी ने एक फेन्सी अंडरगार्मेंट कम्पनी शुरू की। इसी मैन रीज़न को लेकर Bummer को इस्टेबलिश किया।

Seen in Shark Tank India (शार्क टैंक इंडिया मे आये नज़र)

जब Shark Tank India भारत में शुरू हुआ था तो लोगों में स्टार्टअप शुरू करने का क्रेज़ और ज्यादा बढ़ा। और बहुत सारे स्टार्टअप्स के फाउंडर अपने नए-नए आइडीयाज़ लेकर शार्क टैंक इंडिया में जा रहे थे, ऐसे में सुले लावसी मैं भी इस मौके का फायदा उठाया और वह भी शार्क टैंक इंडिया सीजन 1 में गए।

जब इन्होंने शक से के सामने अपना आइडिया रखा तो सभी sharks मे से नमिता थापर ने इनके आईडिया मे इंटरेस्ट दिखाया और इन्हे स्टार्ट अप के लिए 75 लाख रुपये की फंडिंग दी जिससे इन्हे अपना बिज़नेस ग्रो करने मे आसामी हुई।

"Bummer के Underwears" को लेकर Sharks के बीच हुआ गहरा Discussion | Shark Tank India -Season 1

This is The Product (ये है प्रोडक्ट)

आज का जमाना फैशन का है सभी को एक से बढ़कर एक फैंसी आइटम पहनने का शौक होता है वह चाहिए शर्ट हो जींस हो पेंट हो या अंडरवियर ही क्यों न हो, और ऐसे मे Suley Lavasi ने Bummer को शुरू किया और इसमें फैन्सी अंडरवीयर बेचना शुरू किया जो यंग जनरेशन के बीच बहुत पॉपुलर होने लगे। इनके कंपनी मे जो भी अंडरवीयर बनते है वो सभी एक से बढ़कर एक फूल फेन्सी होते है।

जब इन्होंने अपना प्रोडक्ट मार्केट में उतारा तो वह यंग जनरेशन को खूब अच्छा लगा और उनके बीच पॉपुलर हो गया साथ ही पॉजिटिव रिस्पांस मिला उनके डिजाइन सभी अलग-अलग होते हैं और कंफर्टेबल भी होते हैं।

Namita Thaper Give Funding ( नमिता थापर ने की थी फंडिंग)

जब शार्क टैंक इंडिया में सुले को जाने का मौक़ा मिला तो उन्होंने बिना देर किए वहां जाने का डिसीजन लिया और स्टेज पर शारक्स के सामने पूरे आत्मविश्वास से अपने स्टार्टअप को उनके सामने रखा ऐसे में जब शारक्स को उनके स्टार्टअप में पोटेंशियल दिखा तो 2 शार्क नमिता थापर और अमन गुप्ता ने इनको फंडिंग दे दी यह फंडिंग 75 लाख रुपये की थी।

Today’s Earning Report (आज कमाते है इतना)

शुरुआत में जब Suley Lavasi मे अपना स्टार्ट अप शुरू किया था तो वह हर साल 60 लख रुपए की सेल कर रहे थे लेकिन जैसे ही उन्हें shark Tank India से फंडिंग मिली उनकी सेल आसमान छूने लगे और देखते ही देखते आज उनके ग्रंथ बहुत बढ़ रही है और इस साल की बात करें तो साल 2023 के खत्म होते हुए वह लगभग 11 करोड़ रुपये की सेल कर चुके होंगे।

ALSO READ

Q. Bummer स्टार्टअप का फाउंडर कौन है और कहां के हैं?

Ans. Suley Lavasi है जो अहमदाबाद, गुजरात के रहने वाले है।

Q. Bummer स्टार्ट अप कब शुरू हुआ?

Ans. साल 2020 में

Leave a Comment